Download!Download Point responsive WP Theme for FREE!

परिवार के किसी सदस्य की जरूरत के लिए दुकान खाली कराई जा सकती है।

समस्या-

सोरू ने उत्तर प्रदेश के अज्ञात स्थान से समस्या भेजी है कि-

मेरे पति सरकारी नौकरी करते हैं। हम लोग अपनी माँ के साथ ही रहते हैं। पिता का देहान्त हो चुका है। मेरी छोटी बहिन अभी पढ़ रही है। मेरी माँ के मकान में दुकान है जो किराए पर दे रखी है। मेरे कोई भाई नहीं है। मैं  उस दुकान में अपना व्यवस्या करना चाहती हूँ, मेरी माँ भी इस से सहमत है तो क्या हम अपने किराएदार से दुकान खाली करवा सकते हैं?

समाधान-

कान की स्वामी आप की माताजी हैं। यदि मकान के स्वामी आप के पिताजी थे तो उन के बाद उस की स्वामी आप की माताजी के साथ साथ आप दोनों बहने भी हैं। इस तरह यदि आप तीनों मकान की स्वामी हैं तो आप को अपने व्यवसाय के लिए दुकान की जरूरत होने पर आप कानूनी तरीके से दुकान किराएदार से खाली करवा सकती हैं। परिवार के किसी भी सदस्य की जरूरत के लिए दुकान खाली कराई जा सकती है।

इस के लिए आप को तुरन्त किसी स्थानीय वकील से सलाह ले कर बिना कोई देरी किए दुकान खाली कराने का मुकदमा कर देना चाहिए। क्यों कि फिर अदालत में भी समय लगेगा। लेकिन आप जितनी जल्दी मुकदमा कर देंगी उतनी जल्दी आप दुकान खाली करवा सकेंगी। यदि मकान माँ के नाम है तो यह  मुकदमा केवल माँ कीा ओर से हो सकता है।  यदि पिता के नाम था तो उत्तराधिकार के कनूुन के अनुसार आप तीनों उस की स्वामी हैं। इस कारण मुकदमा तीनो  तरफ से संयुक्त रुप से होगा।

Print Friendly, PDF & Email