Download!Download Point responsive WP Theme for FREE!

Category: न्याय

मुकदमों में देरी अदालतों की बहुत कम संख्या के कारण होती है।

समस्या- संजु देवी ने गांव- ऱानोली, तहसील- खाटुश्यामजी, जिला- सीकर, राजस्थान से पूछा है-, मैं अपने पिता की सबसे छोटी पुत्री हूँ। मेरे पिता की मौत बचपन में
Read More

देश भर में ऐसी कोई व्यवस्था नहीं जो मजदूर को उस की बकाया मजदूरी साल भर में भी दिला दे।

समस्या- महेन्द्र सिंह ने पोर्वोरिम, गोआ से समस्या भेजी है कि- मै उत्तराखण्ड का रहने वाला हूँ, मैं गोआ के 4 स्टार होटल मे काम करता था। एक
Read More

तीसरा खंबा को मिले 15 लाख विजिटर्स

हिन्दी ब्लागों को पढ़ते और टिपियाते हुए सुझाव आया कि मुझे भी ब्लाग लिखना चाहिए। 28 अक्टूबर 2007 को मेरा जो पहला ब्लाग सामने आया वह “तीसरा खंबा” था। “तीसरा
Read More

देश में अदालतें जरूरत की चौथाई हैं, मुकदमे के निर्णय के लिए धैर्य रखें।

समस्या- आरके ने भरतपुर, राजस्थान से पूछा है- मेरे तलाक के केस को लगभग चार साल होने को हैं, लेकिन अभी तक कुछ नही हुआ है। मैं और
Read More

मजदूरों के लिए श्रम विभाग और न्यायालयों में कोई न्याय नहीं।

समस्या- टीकम सिंह परिहार ने चौपासनी स्कूल तिलवारियॉ बैरा राजस्थान से पूछा है- मैं “मेक शॉट ब्लास्टिंग इक्विपमेंट प्राईवेट लिमिटेड” में पिछले 7 साल से काम करता था
Read More

लोक अदालतें न्याय-पथ से विचलन और न्याय प्राप्ति से याचियों को दूर करने का उपाय है।

समस्या- अभिनव ने रीवा मध्यप्रदेश से पूछा है- हमारे किराएदार जो बहुत पहले से है वह अभी बहुत ही कम किराया देते हैं। ओर खाली करने कीकहने पर
Read More

दीपावली पर हार्दिक शुभकामनाएँ!!!

मित्रों और पाठकों और सहयोगियो¡ सदैव की तरह दीपावली का त्यौहार फिर आ गया है। आप सभी दीपावली के इस त्यौहार को मनाने में व्यस्त हैं। आठ वर्ष से
Read More

ये लड़ाई लड़ना आप के लिए उचित नहीं, इस से सिर्फ आप को हानि होगी।

समस्या- अमित ने हजारीबाग, झारखंड से समस्या भेजी है कि- मेरे पिता एक रिटायर सरकारी पदाधिकारी है। हम लोग चार भाई हैं। मेरे पिता के किसी दूसरी महिला
Read More

भारतीय सत्ता अब जनतांत्रिक नहीं, चरित्र से पूंजीपतियों, भूस्वामियों और उन के विदेशी दोस्तोें की तानाशाही बन चुकी है।

समस्या- टीकम सिंह परिहार ने जोधपुर, राजस्थान से समस्या भेजी है कि- मेरी कंपनी पिछले 1 साल से वेतन का भुगतान समय पर नहीं कर रही है। हर महीने
Read More

किसी के विरुद्ध मुकदमा प्रस्तुत हो जाने पर प्रतिरक्षा ही एक मात्र विकल्प है।

समस्या- सौरभ ने प्रतापगढ़, राजस्थान से समस्या भेजी है कि- कृपया मुझे बतायें कि. 1. धारा 125 दं.प्र.संहिता का केस पत्नी मायके में कर सकती है या पतिगृह?
Read More