Download!Download Point responsive WP Theme for FREE!

पिताजी भाइयों को संपत्ति दे कर मुझे घर से बेदखल कर रहे हैं …

समस्या-

तिलौतू (सासाराम) बिहार से श्याम कुमार पूछते हैं-

म तीन भाई हैं। दो छोटे भाई केन्द्रीय सरकार की नौकरी में है और मैं मजदूरी करता हूँ।  दोनों भाई पिताजी से सारी संपत्ति अपने और अपनी पत्नियों के नाम लिखा चुके हैं और मुझे घर से बेघर कर रहे हैं। मैं क्या कर सकता हूँ?

समाधान-

दि आप के पिताजी की संपत्ति उन की स्वयं की आय से अर्जित की हुई है तो उस पर आप के पिताजी का पूरा अधिकार है।  उस संपत्ति को वे स्वयं बेच सकते हैं, किसी को भी दान कर सकते हैं या किसी के नाम हस्तांतरित कर सकते हैं।  वे उस संपत्ति को वसीयत भी कर सकते हैं।  उन की स्वयं द्वारा अर्जित संपत्ति किसे प्राप्त होगी यह आप  के पिताजी की इच्छा पर निर्भर करता है।  यदि आप अपने पिताजी से संपत्ति प्राप्त करना चाहते हैं तो उन्हें प्रसन्न कर के उन की इच्छा से ही प्राप्त कर सकते हैं।

लेकिन यदि संपत्ति आप के पिता को उन के पिता, दादा या परदादा से प्राप्त हुई है तो वह पुश्तैनी संपत्ति है।  उस में आप का जन्म से हिस्सा है आप भी उस में एक भागीदार हैं।  वैसी स्थिति में आप अपने पिता से कह सकते हैं कि इस पुश्तैनी संपत्ति में मेरा भी हिस्सा है मुझे दिया जाए।  यदि वे देने को तैयार नहीं हैं तो आप विभाजन की मांग कर सकते हैं विभाजन के लिए भी तैयार न होने पर आप विभाजन के लिए न्यायालय में दीवानी वाद प्रस्तुत कर सकते हैं।  लेकिन वाद प्रस्तुत करने के पहले आप को किसी स्थानीय दीवानी वकील से सलाह कर के उस के माध्यम से ही अपना वाद न्यायालय में दाखिल करना चाहिए।

Print Friendly, PDF & Email
13 Comments