Download!Download Point responsive WP Theme for FREE!

Tag: Non Cognizable

धारा 182 आईपीसी असंज्ञेय है, मजिस्ट्रेट के समक्ष प्रस्तुत परिवाद पर ही कार्यवाही हो सकती है।

समस्या- डॉक्टर मोहन कुमार वर्मा ने 31,राम घाट मार्ग कहारवाड़ी, उज्जैन म.प्र. से पूछा है- मैं दिनांक 09.07.2018 को दिवानी प्रकरण मे वसीयती अनुप्रमाणित गवाह दिनेश सोनी के
Read More

असंज्ञेय अपराधों के लिए सीधे मजिस्ट्रेट को परिवाद प्रस्तुत करें

समस्या- समीर मलहोत्रा ने जबलपुर मध्य प्रदेश से समस्या भेजी है कि- एक व्यक्ति जो कि मेरा पड़ौसी होने के साथ-साथ परिवार का भी है वह आए दिन अकारण
Read More

संज्ञेय और असंज्ञेय अपराधों व मामलों की पुलिस को सूचना

पिछले आलेख में हमने तनु गौड़ के प्रश्न के उत्तर में अपराधों का प्रसंज्ञान लिए जाने की परिसीमा की बात की थी। वहाँ प्रसंज्ञान शब्द का बहुत प्रयोग
Read More