Download!Download Point responsive WP Theme for FREE!

अन्याय को देर तक सहन न करें, तुरन्त कार्यवाही करें।

पति पत्नी और वोसमस्या-

 

प्रियंका ने जमशेदपुर, झारखंड से पूछा है-

 

मेरी शादी दिसम्बर 2006 में हुई थी। शादी के पहले दिन से ही मेरी सास और ननदों का व्यवहार मेरे प्रति अच्छा नहीं था। उन लोगों ने मुझ से धोखे से बहाना बनाते हुए कई बार पैसे ले लिए हैं। सास के साथ रहते हुए मेरा 2 बार इन लोगों की वजह से गर्भपात हो गया जो मुझे अब समझ में आ रहा है कि ये लोग बच्चा नहीं चाहते थे। मेरी सास और ननद के व्यवहार के चलते मैं और मेरे पति अलग किराए का घर लेकर रहने लगे। 2010 में मेरा बेटा हुआ तब मैं मेरे मायके आई कुछ दिन के लिए। जब वापस गयी तो पता चला की मेरे घर का सारा सामान एक एक बर्तन भी मेरे पति ने बेच दिया है। मेरी कार जो मेरे नाम से रजिस्टर्ड थी उसको भी ड्यूप्लीकेट साइन बना कर बेच दिया। मेरे पति के दूसरी लड़की के साथ भी रिश्ता है। अब मेरा पति मुझे मेरे मायके मे छोड़ कर भाग गया है। मुझे तलाक़ चाहिए और मैं यह चाहती हूँ कि मेरे ससुराल वालों को सज़ा भी मिले। इस के लिए मुझे क्या करना चाहिए?

 

समाधान-

 

म यह नहीं समझ पा रहे हैं कि इस हालत में आप इतने दिन क्या करती रहीं। आप के साथ इतना अन्याय हुआ है, आप को तो बहुत पहले कार्यवाही करनी चाहिए थी।

 

प के मामले में सब कुछ है। आप का स्त्रीधन जो आप के पति के पास था उस ने बेच कर ठिकाने लगा दिया। उस ने जिस तरह का व्यवहार किया वह क्रूरता की श्रेणी में आता है। कार को आप के फर्जी हस्ताक्षर कर के बेच दिया। आप का पति आप को मायके में छोड़ कर चला गया।

 

प तुरन्त स्थानीय वकील से सलाह कीजिए तथा विवाह विच्छेद के लिए आवेदन प्रस्तुत करिए आप को विवाह विच्छेद की डिक्री प्राप्त हो जाएगी। इस के अतिरिक्त आप का स्त्री-धन खुर्द-बुर्द कर देने और फर्जी हस्ताक्षर कर के कार को बेच देने आप के साथ क्रूरता का व्यवहार करने के लिए पुलिस में रिपोर्ट लिखाइये या फिर न्यायालय में परिवाद प्रस्तुत करिए। देर मत कीजिए।

Print Friendly, PDF & Email