Download!Download Point responsive WP Theme for FREE!

Tag: 138 N I Act

सीक्योरिटी के रुप में दिए गए चैक पर धारा 138 परक्राम्य विलेख अधिनियम (N.I.Act) का परिवाद पोषणीय नहीं है।

समस्या- अजय कुमार  ने  भरतपुर, राजस्थान से पूछा है –  मेरी एक जमीन को खरीदने का सौदा एक व्यक्ति ने मेरे साथ किया, जिसके लिए उसने मुझे ने
Read More

वाद कारण उत्पन्न हुए बिना किया गए परिवाद पर प्रसंज्ञान लेना अवैध है।

समस्या- एडवोकेट बृजेश पाण्डेय ने सतना, मध्यप्रदेश से समस्या भेजी है कि- धारा 138 परक्राम्य विलेख अधिनियम (निगोशिएबल इंस्ट्रूमेंट एक्ट) के अंतर्गत चेक बाउंस के प्रकरण में परिवादी
Read More

चैक बाउंस के मुकदमे में समन और वारंट की तामील पुलिस ही कराएगी, लेकिन परिवादी को शुल्क के साथ आवेदन देना होता है।

समस्या- दिल्ली से शारदा ने पूछा है – मैं ने एक परिवाद धारा 138 परक्राम्य विलेख अधिनियम के अंतर्गत प्रस्तुत किया है। अब अभियुक्त को समन कोर्ट भेजेगी
Read More

न्यायालय को सारी परिस्थितियाँ बताएँ और मामले को लोक अदालत में निपटाने का निवेदन करें

समस्या – मैंने एक आदमी को दो चैक दिये थे।  हम दोनों का पहले से कुछ विवाद चल रहा था। दोनों चैक की पेमेंट मैंने नकद कर दी
Read More

उधार चुका देने पर भी चैक न लौटाने पर क्या करें?

 बंटी निहाल ने पूछा है – मैं बहुत मुश्किल में हूँ। एक व्यक्ति से उधार लिया था और चैक दिया था। पैसे देने के बावजूद वह चैक वापस
Read More

भुगतान का दिनांक अंकित किए बिना चैक फॉर्म चैक नहीं बनता

 बाल मुकुन्द शाह ने एक विचित्र प्रश्न किया है – क्या आप बिना तारीख के चैक में धारा 138 परक्राम्य विलेख अधिनियम (Negotiable Instruments Act) का मुकदमा कर
Read More

प्रतिवादी या अभियुक्त के पते की जानकारी के बिना उस के विरुद्ध मुकदमा चलाया जाना संभव नहीं है

 मैजिक विंग्स ने पूछा है – – – मैं भीलवाड़ा का रहने वाला हूं। मैं जयपुर के एक आदमी से 11 हजार रुपए मांगता था, उसने मुझे आईसीआईसीआई
Read More

तीसरे पक्ष का चैक भुगतान नहीं हुआ है, मैं क्या कर सकता हूँ?

श्री प्रेम सारस्वत ने पूछा है —  सर! मेरी समस्या ये है कि मैं एक छोटा सा दुकानदार हूँ, सूरत में मेरी एक दुकान है। एक माह पहले
Read More